कॉरपोरेट प्रोफाइल

दूरदृष्टि

व्यापार के लिए मल्टीमॉडल लॉजिस्टिक सेवाएँ प्रदान कर लॉजिस्टिक लागत कम करने में भारतीय अर्थव्यवस्था को संबल प्रदान करना । 

लक्ष्य

समस्त हितधारकों के लाभ के लिए लागत में कमी लाते हुए कुशल रेल आधारित संपूर्ण लॉजिस्टिक हल उपलब्ध कराना ।

संक्षिप्त विवरण

सेंट्रल रेलसाइड वेअरहाउस कंपनी लिमिटेड (सीआरडब्लूसी) एक मिनी-रत्न, श्रेणी-II, सार्वजनिक क्षेत्र का उद्यम है जिसका गठन कंपनी अधिनियम, 1956 के अंतर्गत 10.07.2007 किया गया था।  सीआरडब्लूसी  को 2019 में एमएसएमई अधिनियम 2006  के अंतर्गत मध्यम स्तर के उद्यम के रूप में भी पंजीकृत किया गया है। कंपनी रेल मंत्रालय, भारत सरकार के साथ हुए समझौता ज्ञापन के अंतर्गत पूरे भारत में रेलसाइड वेअरहाउस परिसरों का निर्माण और प्रबंधन किया जाता है। 

सीआरडब्लूसी का लक्ष्य रेल माल ढुलाई को बढ़ावा देने और अपने ग्राहकों की लॉजिस्टिक्स आवश्यकताओं को सुविधाजनक बनाने के लिए समर्पित रेल हैंडलिंग सुविधाओं (रेल साइडिंग से सटे) को विकसित करना है। इसका उद्देश्य मल्टीमॉडल परिवहन परिचालन के कारोबार को बढ़ावा देना तथा घरेलू और इंपेक्स गतिविधि दोनों के लिए कार्गो के एकत्रीकरण/पृथक्करण को बढ़ावा देना है।

 

सीआरडब्लूसी द्वारा एकीकृत वेअरहाउस प्रबंधन प्रदान किया जा रहा है तथा संबंधित लॉजिस्टिक सेवाएं जिससे समग्र दक्षता में वृद्धि, लागत अनुकूलन, नुकसान / चोरी की रोकथाम, रेक के अवरोधन समय में कमी, सेवा की बेहतर गुणवत्ता में सुधार ये सभी एक ही छत के नीचे है।

 

सीआरडब्लूसी की अधिकृत तथा प्रदत्त पूंजी क्रमशः रुपये  150 करोड़ और 40.56 करोड़ है। संपूर्ण प्रदत्त शेयर पूंजी वर्तमान में केंद्रीय भंडारण निगम के पास है। 

सीआरडब्लूसी  के पास 20 रेलसाइड वेअरहाउस परिसर हैं जिनकी कुल परिचालन क्षमता 3.55 मी.टन. और दर क्षमता 2.59 मी.टन. है तथा तीन और रेलसाइड वेअरहाउस परिसर निर्माणाधीन हैं। सीआरडब्लूसी  सभी हितधारकों के लाभ के लिए कुशल रेल आधारित कुल लॉजिस्टिक्स समाधान प्रदान भी कर रही है, जो कि स्तर की अर्थव्यवस्था का लाभ उठा रहें हैं। 

दिनांक 22.04.2013 का रेल मंत्रालय के साथ त्रिपक्षीय समझौता ज्ञापन दिनांक 14.5.2021 को संशोधित किया गया है, जो सीआरडब्लूसी के विस्तार और विकास के लिए व्यापक अवसर प्रदान करता है।

जून 2021 को,  कैबिनेट ने केंद्रीय भंडारण निगम के साथ सीआरडब्लूसी के विलय को मंजूरी दे दी है तथा केंद्रीय भंडारण निगम के साथ सीआरडब्लूसी के विलय के संबंध में, त्रिपक्षीय समझौता ज्ञापन केंद्रीय भंडारण निगम पर लागू है।

रेल मंत्रालय ने अपने पत्र संख्या 2012/टीसी(एफएम)/23/09 दिनांक 08.04.2022 द्वारा रेलसाइड वेअरहाउस परिसरों के विकास हेतु निम्नलिखित दस स्थानों को मंजूरी दी है।

 

(i)         नंदगंज, वाराणसी, यूपी

(ii)        चरियाली, असम

(iii)       दोहना, यूपी

(iv)       असरवा, अहमदाबाद

(v)        जगन्नाथपुर, उड़ीसा

(vi)       कटक, उड़ीसा

(vii)      चंगड़ा बाँध, पश्चिम बंगाल

(viii)     हासीमारा, पश्चिम बंगाल

(ix)       जिरानिया, त्रिपुरा और

(x)        वतवा, गुजरात

 

सेंट्रल रेलसाइड वेअरहाउस कंपनी, केंद्रीय भंडारण निगम  तथा केआरसीएल के बीच एक अन्य त्रिपक्षीय समझौता ज्ञापन पर दिनांक 04.03.2022 को विभिन्न रेलवे स्टेशनों/गुडशेड के साथ-साथ अन्य स्थानों पर (गुड-शेड/निकटवर्ती क्षेत्र के भीतर)  अपने ग्राहकों की लॉजिस्टिक्स आवश्यकता को पूरा करने तथा बेहतर सेवाएं प्रदान करने  हेतु केआरसीएल के स्वामित्व और नियंत्रण वाली भूमि पर गुडशेड और रेलसाइड वेअरहाउस परिसरों  (आरडब्लूसी)  के विकास और रखरखाव के लिए हस्ताक्षर किए गए थे। 

केआरसीएल के अंतर्गत 12 स्थानों की सूची इस प्रकार है:

 

  1.  चिपलून, महाराष्ट्र
  2.  रत्नागिरी, महाराष्ट्र,
  3. जराप, महाराष्ट्र
  4. खेड़, महाराष्ट्र
  5. करंजदी, महाराष्ट्र
  6. वर्ना, गोवा
  7. कारवार, कर्नाटक
  8. अंकोला, कर्नाटक
  9. उडुपी, कर्नाटक
  10. थोकुर, कर्नाटक
  11. सुरथकल, कर्नाटक
  12. इंदापुर, महाराष्ट्र

 

 

सीआरडब्लूसी  ने अरुणाचल प्रदेश कृषि विपणन बोर्ड (एपीएएमबी), के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए है। अरुणाचल प्रदेश सरकार के तीन जिलों में निचला सुबनसिरी, चांगलांग और लोहित फार्म गेट लॉजिस्टिक्स की स्थापना के लिए, सीआरडब्लूसी को परियोजना के कार्यान्वयन एवं पूंजी निवेश हेतु एपीएएमबी से ₹ 1.50 करोड़ प्राप्त हुए हैं। परियोजना कार्यान्वयन के अधीन है।

 

वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए कंपनी का वित्तीय प्रदर्शन निम्नानुसार है:

 करोड़ रुपए में

विवरण

वित्तीय वर्ष (2021-22) लेखापरीक्षा

वित्तीय वर्ष (2021-22) लेखापरीक्षा

वृद्धि

कुल टर्नओवर

128.55

98.13

31.00%

कर पूर्व लाभ

42.54

25.91

64.18%

कर पश्चात् लाभ

31.65

19.37

63.00%

 

वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान, सेंट्रल रेलसाइड वेअरहाउस कंपनी  ने केंद्रीय भंडारण निगम  को कुल 9.50 करोड़ रुपये के लाभांश का भुगतान किया है जो कि प्रदत्त शेयर पूंजी का 23.42%  है।